टोरेंट ग्रुप ने 8640 करोड़ रुपये की पेशकश के बाद रिलायंस कैपिटल हासिल करने की दौड़ जीती

रिलायंस कैपिटल नीलामी: मुकेश अंबानी के छोटे भाई अनिल अंबानी की कंपनी रिलायंस कैपिटल की नीलामी में सबसे ज्यादा बोली लगाने वाले का नाम सामने आया है. कर्ज में डूबी रिलायंस कैपिटल की समाधान प्रक्रिया के तहत बुधवार को हुई नीलामी में टोरेंट समूह ने सबसे ऊंची बोली लगाई। सूत्रों ने कहा कि अहमदाबाद स्थित टोरेंट ग्रुप ने अनिल अंबानी समूह द्वारा स्थापित गैर-बैंकिंग वित्त कंपनी (एनबीएफसी) का अधिग्रहण करने के लिए 8,640 करोड़ रुपये की बोली लगाई है।

हिंदुजा ग्रुप ने दूसरी सबसे ऊंची बोली लगाई

टोरेंट ग्रुप की प्रवर्तक संस्थाओं ने रिलायंस कैपिटल को खरीदने की यह पेशकश की है। बैंकिंग सूत्रों के अनुसार, हिंदुजा समूह ने भी कंपनी को खरीदने के लिए नीलामी में भाग लिया और 8,150 करोड़ रुपये की पेशकश की, लेकिन टोरेंट समूह ने अपनी उच्च बोली के माध्यम से प्रस्ताव को हरा दिया।

कोस्मिया पीरामल टाई-अप पहले ही बोली प्रक्रिया से बाहर हो चुका है

उत्तर

बैंकिंग सूत्रों ने कहा कि हिंदुजा समूह ने दूसरी सबसे ऊंची बोली लगाई, जबकि ओकट्री ने नीलामी चरण में भाग नहीं लिया। कौसमिया पीरामल गठबंधन पहले ही बोली प्रक्रिया से बाहर हो चुका था। सूत्रों ने कहा कि लेनदारों की समिति (सीओसी) ने नीलामी के लिए 6,500 करोड़ रुपये की निचली कीमत सीमा निर्धारित की थी। नेशनल कंपनी लॉ ट्रिब्यूनल (एनसीएलटी) के आदेश के मुताबिक, लेनदारों को रिलायंस कैपिटल की समाधान प्रक्रिया 31 जनवरी, 2023 तक पूरी करनी होगी।

टोरेंट ग्रुप का क्या होगा

इस नीलामी को जीतने से टोरेंट ग्रुप को वित्तीय सेवा क्षेत्र में अच्छा लाभ मिलेगा क्योंकि यह टोरेंट ग्रुप को रिलायंस जनरल इंश्योरेंस में पूर्ण 100 प्रतिशत हिस्सेदारी देगा, जबकि टोरेंट को रिलायंस निप्पॉन लाइफ इंश्योरेंस में 51 प्रतिशत हिस्सेदारी मिलेगी।

टोरेंट ग्रुप को जानें

21,000 करोड़ रुपये के टोरेंट ग्रुप के प्रमुख 56 वर्षीय समीर मेहता हैं और उनके नेतृत्व में समूह ने कई रणनीतिक पहल की हैं और नए क्षेत्रों में प्रवेश किया है। उदाहरण के लिए टोरेंट ग्रुप ने बिजली और सिटी गैस वितरण के क्षेत्र में भी अपनी पहचान बनाई है। टोरेंट ग्रुप की प्रमुख कंपनी टोरेंट फार्मास्युटिकल्स भारत की अग्रणी फार्मा कंपनियों में से एक है। रिलायंस कैपिटल को खरीदने के बाद अब समूह के पास वित्तीय सेवा क्षेत्र में विस्तार करने के अवसर हैं।

Author: Rohit Vishwakarma

With over 1 years of experience in the field of journalism, Rohit Vishwakarma heads the editorial operations of the Elite News as the Executive Writer.

Leave a Reply

Your email address will not be published.